Share it

अंतर्राष्ट्रीय पर्वत दिवस /इंटरनॅशनल माउंटेन डे 

                             उंचाईयों को छूने वाले पर्वत इस सृष्टि में एक चमत्कार की तरह ही है  ,सृष्टि का सौंदर्य बढ़ाते हुए खड़े है। दुनिया की 27 प्रतिशत भूमि पर्वतों से व्याप्त हैं। ये दुनिया की जैव विविधता का आधार हैं। हमारे स्वास्थ्य और सेहत के लिए इनका महत्व है और ना जाने कितनी सारी पशुपक्षियों की प्रजातियों का ये घर हैं इन सभी फैक्ट्स को देखते अंतर्राष्ट्रीय पर्वत दिवस का महत्व नजर आता हैं। 
अंतर्राष्ट्रीय पर्वत दिवस


अंतर्राष्ट्रीय पर्वत दिवस की शुरुवात कब हुईं ?

 
2002  का पूरा साल ईयर ऑफ़ माउंटेन घोषित किया था बाद में 11 दिसंबर 2003 को अंतर्राष्ट्रीय पर्वत दिवस मनाने की घोषणा हुई। 
 

2021 अंतर्राष्ट्रीय पर्वत दिवस की थीम क्या हैं ?

 
sustainable tourism in  mountain   (स्थायी पर्वतीय पर्यटन )
 
 

पर्वतो का मह्त्व 

 
हर  देश के लिए पर्वत महत्व रखते हैं। दुनिया की १५ प्रतिशत पॉपुलेशन पर्वतों की निवासी हैं। 
 
पूरी दुनिया की 50  प्रतिशत जैव विविधता पर्वतो पर टिकी हैं। 
 
कही ये बारिश का कारण बनते हैं ,कही ठंडी से बचाव करते है ,बहोत सारे लोग पर्वतो से आने  वाले पानी पर निर्भर है। 
 
गिर्यारोहको के लिए  बड़े बड़े पर्वत चढ़ना एक साहस का खेल हैं कितनो ने इस वजह से अपनी जाने भी गवा दी है उन सब के सन्मान अर्थ इस दिवस का सेलिब्रेशन होता हैं। और सिवाय पर्वतो पर रहने वाले लोगों की संस्कृति एक विरासत की तरह है उसे भी टिकाना होगा सर्व के सहायता से। 
 
पर्वतीय पर्यटन स्थलों को इस वजह से महत्व दिया जा रहा है ,दिनों दिन इसमें वृद्धि भी हो रही हैं। टूरिस्ट आकर्षणों में 15 से 20 प्रतिशत पर्वतीय स्थल ही होते हैं। covid के बाद इनमें और बढ़ोतरी होगी क्योंकि फ्रेश एयर और लोगो की भीड़ कम। 
 
तो फिटनेस के दृष्टीकोन से भी पर्वतो पर चढ़ना ,नेचर की विविधताओं को देखना एक आंनद की अनुभूति देता हैं 
मन को शांती मिलती हैं। आपके आसपास पहाड़िया है तो जरूर अनुभव लें। 
 

By admin

2 thoughts on “इंटरनॅशनल माउंटेन डे 2021 । 11 दिसंबर अंतर्राष्ट्रीय पर्वत दिवस – पर्वत हमारी जैव विविधता का आधार।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *