Share it
                                                                                रीडिंग टाइम  2 min 32 sec

आंतरराष्ट्रीय योग दिवस

international yoga day 2021
international yoga day 2021
सर्वप्रथम सयुंक्त राष्ट्र  महासभा में  ११ दिसंबर २०१४ में आंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाने का प्रस्ताव पारित हुआ १७७ सदस्य राष्ट्रों ने इस प्रस्ताव को  मंजूरी दे दी।

सर्वप्रथम इस योग दिवस को २१ जून २०१५ को मनाया गया तबसे लेकर आज भी पुरे विश्व में धूमधाम से इसे मनाया जा रहा है और आगे भी मनाया जाएगा। जिससे योग का महत्व पुरे दुनिया में रहेगा और इससे  होने वाले शारीरिक और मानसिक फायदे सभी को मिलेंगे।

योग

योग भारत की प्राचीन परंपरा है जिससे मन ,शरीर और आत्मा तीनो में सांमजस्य  निर्माण होता है  मनुष्य  योग को जीवन में अपनाकर शारीरिक और मानसिक पथ पर स्वस्थ रह खुशहाल रह सकता है।
योग का अर्थ ही है जुड़ना जो ये एक खुद से जुड़ना और दूसरा है इस महान प्रकृति से जुड़ना। योग मात्र सिर्फ शारीरिक एक्सरसाइज़  नहीं है जिसे आज इस तरह से समझा जाता है।
इस प्रस्ताव के समय सयुंक्त राष्ट्र की महासभा में भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदीजीने कहा था ,
 योग मनुष्य और प्रकृति के बिच एक सामंजस्य है विचार ,संयम और स्फूर्ति प्रदान करने वाला है तथा योग स्वास्थ्य और भलाई के लिए एक समग्र दृष्टिकोण प्रदान करनेवाला है ,यह व्यायाम के बारे में नहीं है लेकिन अपने भीतर एकता की भावना ,दुनिया और प्रकृति की खोज के विषय में है। योग हमारी बदलती जीवनशैली में एक चेतना है, इसे अपनाये। ”

योग के प्रकार

प्राचीन ग्रंथो शिवसंहिता और गोरक्षसंहिता के मुताबिक चार प्रकार वर्णित है
मंत्रयोग
लययोग
हठयोग
राजयोग
पतंजलि सूत्र अनुसार अष्टांग योग का वर्णन है 
यम
नियम
आसन
प्राणायाम
प्रत्याहार
ध्यान
धारणा
समाधी

योग करने से पहले कुछ बेसिक नियम जरूर अपनाए

  1. सुबह का समय योग करने के लिए सबसे अच्छा हैं ,खाली पेट योग करें।
  2. योग खुली जगह  में करे जहा प्रकाश और हवा अच्छे से आती हों।
  3. कठिन जगह पर योग न करे योग चटाई या yogamat का उपयोग करे।
  4. कपडे कम्फर्टेबल पहनें जिससे हर आसन अच्छे से कर सके।
  5. योग शुरू करने से पहले थोड़ा बॉडी की स्ट्रेचिंग आदि कर बॉडी वार्मअप करे।
  6. पीठ आदि में दर्द हो तो फॉरवर्ड  में  झुकने वाले आसन ना करें।
  7. हर आसन करने के बाद कुछ सेकंड के लिए रिलैक्स हो जाए।
  8. अगर कुछ बीमारी से ग्रसित हो जैसे डायबिटीस ,ब्लड प्रेशर ,स्पाइन के प्रॉब्लम तो एक्सपर्ट की निगरानी में ही आसन प्राणायाम करें।
  9. ज्यादा शरीर में तनाव की स्थिति निर्माण होने तक योगा  न करे रिलैक्स कंडीशन में ही इसे करें।

योग से फायदे

  • शरीर में लवचिकता आती हैं।
  • लवचिकता से शरीर में शक्ति ,स्फूर्ति ,ताकत के अलावा बॉडी का पोस्चर बदलता है कॉन्फिडेंस लेवल बढ़ता है।
  • मसल्स अच्छे तरीके से रिलैक्स और कॉन्ट्रैक्ट होने लगते है जिससे शारीरिक दर्द ,घाव हो तो वो भी ठीक होने लगते है।
  • डेली योग प्रैक्टिस से कितनो के पीठ ,घुटने ,कोहनी अदि के दर्द कम होते देखा गया है। जॉइंट की ताकत रिस्टोअर होती है क्योंकि जॉइंट्स की फुल मूवमेंट अलग अलग आसनो से होती है।
  • योग से शरीर  नेचुरल ग्लो करता है ,सुंदरता बढ़ती है और ज्यादा जवान, यूथफुल फील करते है।
  • शरीर का ब्लड सर्कुलेशन बढ़ता है। योग की स्थितयो में अलग अलग तरीको से हाथ पैरो की गतिविधियोंसे बॉडी की इंटरनल प्रक्रिया में बदलाव होने लगते हैं। कुछ आसनो से जैसे शवासन का रोज अभ्यास करने से ब्लड प्रेशर नार्मल होने में मदद मिलती है।
  • योग से इम्युनिटी सिस्टम प्रॉपर फंक्शन करती है।
  • इस प्राचीन पद्धति  में इतने आसन बताये है की हर एक के अलग अलग फायदे मिलते है बस्स रेगुलरली इन्हे करना महत्वपूर्ण हैं।

मानसिक स्तर पर योग से ये परिणाम पाए गए है की स्ट्रेस को हैंडल करना ,वर्तमान में जीना ,चिंता कम होना  आदि पॉजिटिव बदलाव आते है।लगातार तीन माह तक योग प्रैक्टिस करने पर ये परिणाम निकला है।  डेली योग प्रैक्टिस से हैप्पी हार्मोन स्रवित होते है जो हमे एक्टिव और खुश रखते हैं।

रिसर्च आर्टिकल देखने के लिए स्ट्रेस को हैंडल करना इस पर क्लीक करें। 
international yoga day 2021
international yoga day 2021
 

By admin

One thought on “आंतरराष्ट्रीय योग दिवस २१ जून २०२१ जानिए योग के प्रकार,योग करने पूर्व कुछ नियम और योग के फायदें”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *